What is Torrent?

Torrent का नाम सुनते ही वर्ड पायरेसी हमारे ज़हन में ज़रूर आता है. जब की torrent प्लेटफॉर्म अपने आप में लेगा है. लेकिन ज़्यादा तर लोग इसका इस्तेमाल इललीगल वे में करते हैं. टोरेंट एक इंडेक्सिंग साइट्स है. जहाँ बहुत सरे कंटेंट जो यूजर अपलोड करते हैं वो इंडेक्स किया हुए मिल जायेंगे. जिसे डाउनलोड करने के लिए आपको एक टोरेंट क्लाइंट की ज़रुरत होगी.

Torrent की कई साडी इंडेक्सिंग साइट्स है. जैसे कॉकस, पिरतेबय आदि. और कई सरे torrent क्लाइंट भी अवेलेबल हैं. जैसे utorrent, bittorrent etc जिसकी हेल्प से टोरेंट के कंटेंट को डाउनलोड किया जाता है. यहाँ से आप बहुत ही हाई क्वालिटी कंटेंट बिलकुल फ्री डाउनलोड और अपलोड कर सकते हैं.

Is Torrent Legal or illegal?

Torrent एक Peer to Peer (P2P) Network है. जिसका इस्तेमाल फाइल शेयरिंग के लिए किया जाता है. इस प्लेटफॉर्म के ज़रिये किसी भी तरह की फाइल को पूरी दुनिआ के साथ आप शेयर कर सकते हैं. जो कंटेंट आप शेयर कर रहे हैं अगर उसके कॉपीराइट ओनर आप हैं तो ये प्रोसेस लीगल होगा otherwise इसे इललीगल consider किया जायेगा.

सो बसीकली torrent प्रोसेस में एक यूजर ही किसी भी कंटेंट को अपलोड करता है जब की कोई दूसरा यूजर उस कंटेंट को डाउनलोड करता है. कई तरह के कंटेंट आप डाउनलोड कर सकते है जैसे मूवीज, गेम्स, सॉफ्टवेयर, ईबुक आदि.

एक फेमस राइटर पाउलो कोएल्हो ने अपनी बुक को torrent पे अपलोड कर दिया. ताकि जिन लोगो के पास पैसे न हो वो इस बुक को फ्री में पढ़ सके. तो Torrent बिलकुल लीगल है और इसका अच्छा इस्तेमाल भी किया जा सकता है.

What is Seeders and Leechers?

वो यूजर जो torrent पे किसी भी तरह का कंटेंट अपलोड करते हैं. ऐसे यूजर को seeders कहा जाता है. सेंडर अपने कंप्यूटर को रनिंग मोड में छोड़ देते हैं. ताकि लार्जर तोर्रेंटिंग कम्युनिटी डाउनलोड कर सके. अगर seeders इललीगल कंटेंट अपलोड करता है, तो उसके पकडे जाने का रिस्क होता है. कयूं की seeders का ही कंप्यूटर सर्वर से यूज़ होता है. जब दूसरे यूजर डाउनलोड करते हैं.

जो यूजर सिर्फ कंटेंट को डाउनलोड करते हैं. और टोरेंट को क्लोज कर देते हैं, तो ऐसे उसेर्स को Leechers कहा जाता है. जबकि Leechers भी seed कर रहा होता हैं. जितनी देर उसकी फाइल डौन्लोडिंग में लगी होती है. डौन्लोडिंग के दौरान seeding की स्पीड बहुत ही कम होती है जिससे कंटेंट का एक स्माल पोरशन ही अपलोड हो पता है. जिसे दूसरे यूजर डाउनलोड करते हैं और इससे स्पीड भी बढ़ जाती है.

सो आपकी डौन्लोडिंग स्पीड भी seeders और Leechers के ratio पे ही depend करती है. अगर किसी फाइल को अपलोड करने वाले यूजर (seeders) ज़्यादा हैं. और डाउनलोड करने वाले (Leechers) कम हैं, तो आपको बढ़िया स्पीड मिल जाती है. लेकिन अगर डाउनलोड ज़्यादा हो रहा है. और बहुत ही कम यूजर अपलोड कर रहे हैं, तो स्पीड भी कम हो जाती है.

Magnetic Link?

ये एक सिंपल टेक्स्ट लाइन है, जो इजी तो डाउनलोड लिंक है. अगर आप मैग्नेटिक लिंक बटन पे क्लिक करके डाउनलोड करते हैं, तो आपको “ torrent” फाइल डाउनलोड करने की ज़रुरत नहीं है. ये डायरेक्टली torrent क्लाइंट से कनेक्ट होकर डाउनलोड करना शुरू कर देता है. और ये बिना किसी ट्रैकर के काम करता है. इस लिंक को कॉपी पेस्ट और सेंड किया जा सकता है.

 

आपको ये आर्टिकल कैसा लगा हमें कमेंट सेक्शन में ज़रूर बताये. अगर आपको किसी खास टॉपिक पे कोई भी इनफार्मेशन चाहिए. तो आप हमें कमेंट करके बता सकते हैं. हमारी कोशिश होगी की जल्द वो इनफार्मेशन आप तक पंहुचा दिया जाये.

Read More

RAR File Ka Password Kaise Jane

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top